चिंता ओर गुस्सा कैसे खत्म करें

Posted on

तनाव से बचना किसी के लिए भी मुमकिन नहीं है लेकिन इसका सामना कैसे करे ये सबको आना चाहिए
तनाव से बचने के लिए क्या करे इनको करने से आप तनाव से दूर रह सकते है( चिंता ओर गुस्सा कैसे खत्म करें)

गहरी सांस ले

मतलब जब आप बहुत अधिक तनाव मैं है तो आप कही शांत जगह बैठकर या खुली जगह मैं बैठकर लम्बी लम्बी साँसे ले पहले आप लम्बी सांस अंदर खिचे और सांस छोड़ते समय ये सोचे की इस सांस के साथ आपकी चिंता और तनाव भी बाहर निकल रहे है और कुछ समय एकांत मैं व्यतीत करे( चिंता ओर गुस्सा कैसे खत्म करें )
अपने आप से बाते करे और कुछ एसा सोचे जिससे आप को खुशी मिलती है

अपना पसंदीदा काम करे

मतलब एसा काम करे जिसमे आपका मन लगता हो क्युकी अपना पसंदीदा काम करना हमेशा चिंता और तनाव को दूर करता है इसलिए जब भी आपको तनाव हो तो वही करे जो आपको पसंद हो या बिना लिरिक्स वाले गाने सुने क्युकी ये आपके मन को काफी शान्ति देता है (चिंता ओर गुस्सा कैसे खत्म करें)

अक्सर लोग तनाव या चिंता होने पर परिस्तिथियों को दोष देते है जबकि परिस्तिथियों पर काबू पाना सम्भव नहीं है इसलिए हर परिस्तिथियों मैं मन को प्रसन्न को खुश रखने की कोशिश करे (चिंता ओर गुस्सा कैसे खत्म करें)

क्युकी चिंता और तनाव एक ऐसी बिमारी है जो आपके मन की साड़ी खुशियों को खा जाती है बहुत ज्यादा चिंता करने वाले इंसान कभी खुश नहीं रहते चिंता में डूबे इंसान को किसी भी बात से खुशी नहीं मिलती एक बात को लेकर लगातार सोचते ही रहेंगे और ऐसे लोग हमेशा मायूसी को दुःख की उर्जा से घिरे होते है चाहे कोई ख़ुशी का मोका हो चाहे कोई उत्सव हो या त्योंहार हो

कई बार आपकी चिंता करने की वजह से बनते काम भी बिगड़ जाते है परिवार मैं अगर एक इंसान चिंता करता है तो उसका प्रभाव पुरे परिवार पर पड़ता है और ऐसे घर में कोई खुश नहीं रहता है (चिंता ओर गुस्सा कैसे खत्म करें)

एक सच कहू आपसे शायद आपको कड़वा लगे और हो सकता है शायद आप ना भी मानो जितनी ज्यादा आप चिंता करते हो न वास्तविकता मैं ऐसा कुछ भी नहीं है जिसकी चिंता की जाए कई लोग आपसे कहते है आपको क्या पता हमारी ज़िन्दगी के बारे मैं
(चिंता ओर गुस्सा कैसे खत्म करें)

ज़िन्दगी कैसी भी हो पर अगर आप समाधान नहीं निकाल पाते हो तो परेशानियों का मतलब आप खुद एक प्रकार की परेशानी हो

if you can’t solve the problem
that’s mean you are the problem

ऐसी कोई चिंता नहीं जिसे करने से आपको सुख मिल जायेगा या आपके घर मैं या मन मैं शान्ति आ जाएगी क्युकी चिंता एक ऐसा जहर है जो आपके कल को तो अच्छा कभी नहीं बनाएगी बल्कि वो आपकी आज की खुशियाँ आज का दिन जरूर बर्बाद कर देगी

वास्तव मैं चिंता क्या है ?

ऐसा न हो जाए वैसा ना हो जाए ऐसा क्यों नहीं हो रहा वैसा क्यों नहीं हो रहा इसका सीधा सा मतलब है चिंता
आप उन्ही बातो की करते हो जो आपके नियंत्रण मैं नहीं होती अब जो आपके नियंत्रण मैं नहीं है उसके बारे मैं सोच कर आप कोनसा स्वर्ग खड़ा कर लेंगे
(चिंता ओर गुस्सा कैसे खत्म करें)

चिंता से दूर रहना है तो 5 बाते याद रखना

  1. सबसे पहले कल क्या होगा उसके बारे मैं सोच सोच कर अपना आज खराब मत करो क्युकी कल क्या होगा किसी को पता नहीं पर आज और इस पल मैं आप क्या कर सकते हो वो आपके हाथ मैं है अपनी खुशियों के लिए किसी दिन का इंतज़ार मत करो
  2. दूसरी बात जो बाते आपकी मानसिक स्वास्थ्य के लिए सही नहीं है उन बातो को भूलना और लेट गो करना सीखो क्युकी बहुत परवाह कर ली आपने अब लापरवाह होना सीखो आपको ऐसा लगेगा जैसा आपके मन से सारा बोझ उतर गया हो
  3. तीसरी बात ये इच्छा बिलकुल छोड़ दो की लोग और परिस्तिथि आपके हिसाब से चले क्युकी लोग और परिस्तिथि दुनिया मैं किसी के हिसाब से नहीं चलते इसलिए ये सोचना छोड़ दो की लोग और परिस्तिथि केसी होनी चाहिए बल्कि ये सोचो की आपको हर हाल मैं कैसे मस्त रहना है
  4. चोथी बात हर बात के लिए अपने आप को जिम्मेदार बनाना छोड़ दो ये मत सोचे की सब आपको करना पड़ता है सब आपको देखना पड़ता है क्युकी हमसे पहले भी सब चल रहा था और हमारे बाद भी चलेगा
  5. पाचवी बात अपनी बातो को मन मैं ना रखे कई बार लोग अपनी बात कह नहीं पाते और मन ही मन मैं घुटते जाते है और इसकी वजह से वो कभी खुश नहीं रह पाते इसलिए आप अपने डर को निकले और अपनी बाते कहना सीखे ये सोचना बिलकुल छोड़ दे की उनको बुरा लगेगा
    अपनी ज़िन्दगी को फालतू की चिन्ताओ मैं मत गवा देना इसलिए खुश रहे और स्वस्थ रहे
(चिंता ओर गुस्सा कैसे खत्म करें)

Leave a Reply

Your email address will not be published.