श्री कृष्ण साधना

Posted on

श्री कृष्ण साधना ( Krishna Sadhana )

जितने भी कृष्ण भक्त है जो चाहते है की अपने जीवन को कृष्णमय करते हुए मुक्ति को प्राप्त हो जाये उनके लिए यह साधना बहुत ही उपयोगी है कुछ लोग कहते है हम भगवान कृष्ण में बहुत श्रदा रखते है या भगवान विष्णु मैं बहुत श्रदा रखते है दोनों एक ही है ( श्री कृष्ण साधना )

11 दिन की ये साधना है जिसे आप पुरे श्रदा भाव से पुरे 11 दिन तक भगवान श्री कृष्ण का मंत्र जप करते है और 11 वे दिन जो पूर्ण आहुति होगी उसके बाद आपको ये योग्यता प्राप्त हो जाएगी की अगर आप इनके मंत्र का जप करेंगे आगे तो उस समय ये मंत्र जप के प्रभाव नजर आयेंगे

आपको मतलब की अनुभव होना शुरू हो जायेगा और आप संकल्प इस साधना में ये लेना की प्रभु मैं ये साधना तो शुरू कर रहा हु लेकिन आप मुझे दर्शन तभी देना जब आप मुझे अपने लोक में ले जाने के लिए राज़ी हो मृत्यु के बाद आप मुझे मुक्ति देने के लिए राज़ी हो तभी आप मुझे दर्शन देना ( श्री कृष्ण साधना )

जब अपने 11 दिन की साधना कर ली तो हो सकता है की कुछ लोगो को 11 दिनों मैं ही प्रभु के दर्शन हो ,, स्वप्न मैं हो या फिर ऐसा हो सकता है की 11 दिन बाद भी आप प्रतिदिन 1 माला या 5 माला मंत्र की जप करना चालू रखेंगे तो कुछ समय बाद भगवान के दर्शन हो
( Krishna Sadhana )

आप इस साधना को किसी भी एकादशी से शुरू करे 11 दिन के लिए 11 दिन के लिए जप करे हो सके तो हवन करे( Krishna Sadhana )

जप संख्या 5 माला कम से कम 11 माला २१ माला आप अपनी स्वच्छा से चुन सकते है की आप कितनी जप करना चाहते है जरुरी नहीं है की इसमें ५१ माला की जाए आप अपनी स्वच्छा से कर सकते है अगर अपने रात्री को जप शुरू किया 8 या 9 बजे और 10 या 11 बजे तक जप खत्म हो गया ( श्री कृष्ण साधना )

तो उसके बाद आप हवन कर सकते है जिसमे आप आहुति जो मंत्र आप जप करेंगे उसी ही आहुति रहेगी जो की एक माला की आहुति रहेगी एक माला की आप हवन करे इसमें ज्यादा करने की जरुरत नहीं है क्युकी ये जप तो आप हमेशा करते रहेंगे इस तरह से 11 वे दिन पूर्ण आहुति करके आप हवन कर दे और आप चाहे तो कन्या भोजन करा सकते है या किसी मंदिर मैं दान दे सकते है ( श्री कृष्ण साधना)

इस साधना को करते समय पत्नी का दुःख , बच्चो का दुःख , परिवार का दुःख ये सब भूल जाना जब आप साधना करते है तो एक बात निश्चित समझ के ही करना चाहिए की आपके उपर जिम्मेदारी बहुत होती है लोगो को सुखी रखने की

लेकिन इसका मतलब ये नहीं है की आप अपने जीवन को नारकीय कर ले दुःख ही ना रहे जब भगवान कृष्ण का साथ होता है तो धीरे धीरे चीज़े अच्छी होने लगती है (श्री कृष्ण साधना)
जो भी ये साधना करेंगे उन्हें भविष्य की चिंता नहीं करनी चाहिए प्रभु के उपर सब कुछ छोड़ देना चाहिए

क्युकी प्रभु अपने आप आपके जीवन मैं सब कुछ अच्छा करेंगे जिससे आपका भी भला हो और आपके परिवार का भी भला हो ( श्री कृष्ण साधना )
जो भी ये साधना करना चाहते है वो 11 दिन की माला जप से कर सकते है इसे आप तुलसी माला से भी कर सकते है

7 thoughts on “श्री कृष्ण साधना

Leave a Reply

Your email address will not be published.