WHAT IS KUNDALINI AWAKENING   KUNDALINI AWAKENING : Kundalini refers to that dormant power in the human organism which lies at […]

आज हम बात करणमे जा रहे हे ! ब्रह्मचर्य की कठिनाइया और विघ्नं के बारे में ! गीता में लिखा हे ! विषय और इन्द्रिय सहयोग से जो सुख प्रथम अमृत के सम्मान सुखकर प्रतीत होते हे !वह परिणाम में विष के सम्मान घातक होजाते हे ! ये सभी सुख राजस सुख हे ! शरीर और इंद्री ही जीवन की मुख्य सम्पति हे ! अब यदि हमारी ऊँगली में यदि जरा सा कटा चूब जाय तो हमारी तमाम जीवन शक्ति विकल होकर उदार ही लग जाती हे !

मेडिटेशन यानी कि ध्यान पिछले कुछ दशकों में इस ध्यान ने पूरी दुनिया का ध्यान अपनी ओर खींचा है। और […]

प्र्त्यक कार्य मैं आचमन का विधान हैं । आचमन से हम केवेल आपनी ही सुदधि नहीं करते, अपितु ब्रह्म से […]

समाधी तक पहुचने के लिए यम नियमादी के पालन की आवश्यकता होती है | इनके पालन में चुक होने पर न ध्यान होता है और न समाधी लग पाती है |( कुंडली जागरण 5 योग के 8 अंग )

I AM NOT ROBOT आर्य समाज के संस्थापक स्वामी दयानंद सरस्वती आधुनिक भारत के निर्माताओं में से एक थे। स्वदेशी […]