What is Tantra Vidya? | Tantra Vidya क्या हैं? | Tantra Vidya से केसे बचे? | Tantra Vidya कितने प्रकार की होती हैं? | Tantra Vidya को कैसे तोड़े

Posted on

Tantra Vidya दो संस्कृत शब्दों से बना है – तनोती, जिसका अर्थ है विस्तार करना, और त्रयते, जिसका अर्थ है मुक्त करना। यह आत्मा के विस्तार और मुक्ति का हिंदू विज्ञान है। इसमें हिंदुओं के लगभग सभी आध्यात्मिक अभ्यास शामिल हैं – जैसे पूजा, स्तोत्र, मंत्र, यंत्र, योग, ध्यान आदि।

दुर्भाग्य से बहुत से लोगों ने Tantra Vidya को एक जादू टोना और मध्ययुगीन यौन अनुष्ठान के रूप में पेश किया है। यह मिथक इतना मजबूत है कि आज एक तांत्रिक को अपने फायदे के लिए लोगों को फंसाने के लिए कुछ भीषण अनुष्ठानों के अभ्यासी के रूप में देखा जाता है। सच्चाई से आगे कुछ भी नहीं है। वही “काम” शब्द की उनकी व्याख्या के साथ जाता है। संस्कृत में “काम” शब्द का अर्थ है इच्छा – सभी प्रकार की इच्छाएं जैसे, भूख, प्यास … सेक्स के लिए। लेकिन एक बार फिर सिर्फ सेक्स का जिक्र कर गैलरी में खेलकर सनसनी मचा दी गई है. इससे भी अधिक भयानक बात यह है कि देवी माँ के विभिन्न नाम कामुक हैं। कामाक्षी बनी सेक्सी आंखों वाली देवी और कामरूपिनी बनी सेक्सी दिखने वाली देवी!

Tantra का उद्देश्य मानव जीवन के हर पहलू को बढ़ाना है, क्योंकि मुक्ति पाने के लिए व्यक्ति को पूर्ण बनना होगा। पहले व्यक्ति को अपनी शारीरिक और मानसिक क्षमताओं को पूर्ण करना चाहिए, और फिर उन्हें नियंत्रित करना और उन्हें ऊंचा करना सीखना चाहिए, और फिर आत्मा को आध्यात्मिक प्रगति के उच्च स्तर पर ले जाने के लिए उन्हें परिवर्तित और मोड़ना चाहिए। यह आपको क्रोध, भूख, प्यास, घृणा, अहंकार, एकाग्रता, मानसिक क्षमताओं आदि को पूर्ण और नियंत्रित करने में सक्षम बनाता है। यह आपको सेक्स को पूर्ण और नियंत्रित करना भी सिखाता है, जो हमारे दैनिक प्राकृतिक जीवन का एक हिस्सा है। लेकिन केवल इस तीन अक्षर के शब्द को चुनना और तंत्र को चार अक्षर अभ्यास के रूप में पेश करना एक हास्यास्पद मजाक है।

Tantra Vidya कितने प्रकार की होती हैं?

Tantra Vidya मुख्यतः दो प्रकार की होती है जैसे:-

  1. Agama: The word Agama means “He (He who came to us)”. The Agamas do not accept or reject the Vedas but use the public knowledge (eg, mantras) of the Agama Vedas for appropriate actions. To understand Agama and Tantra we have to dive a little.
  2. Nigama: This font is commonly known as Tantra Shastra. Just as the nigams (Vedas) are the basis of nigamamagam-based Native American culture, so is the agamas (tantras). Even after independence, both of them respect each other. The Nigam describes the nature of action, knowledge and worship, and the agama describes his attitude.

Tantra Vidya से केसे बचे?

  • Tantro से राहत पाने के लिए 7 बार हनुमान चालीसा का पाठ करें और जल को उत्तेजित करें और घायल व्यक्ति को पीला रंग दें।
  • आप घर में 108 बार गायत्री मंत्र का जाप करे और उसके बाद गाय के घी से ही गायत्री यज्ञ करे उससे आपको तुरंत लाभ मिलेगा.
  • सूर्यास्त के समय स्नान के बाद एक पौंड कच्ची गाय के दूध में नौ बूंद शुद्ध शहद मिलाकर एक साफ पात्र में भर लें। अब घर की छत से लेकर फर्श तक, हर कमरे में, लिविंग रूम, गैलरी आदि में, सभी समान स्थानों पर हनुमान चालीसा का पाठ या गायत्री मंत्र का जाप करते रहें। बचा हुआ दूध सामने के दरवाजे के बाहर निकाल दें।
  • रविवार की सुबह काले धतूरे की जड़ को दाहिने हाथ में बांधने से उपरी हवाओं से तुरंत राहत मिलती है।
  • लहसुन के रस में हींग घोलकर आंख में डालने या सूंघने से उपरी हवा चलने पर रोगी को तुरंत आराम मिलेगा।

Tantra Vidya को कैसे तोड़े

  • पहले किसी भी बाबा या गुरु से उस बुरी शक्ति को जानो और और उसका उपाय निकले।
  • अगर आप तांत्रिक शक्तियों से अपनी और अपने परिवार की रक्षा करना चाहते हैं, तो सबसे पहले प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ करना शुरू करें।
  • वहीं हनुमान चालीसा का पाठ संध्यावंदन करना चाहिए. कृपया ध्यान दें कि संध्यावंदन घर या मंदिर में सुबह और शाम को किया जाता है।
  • यह माना जाता है कि पवित्र आत्मा और विश्राम से बेठ कर हनुमान चालीसा का पाठ हनुमान की कृपा प्राप्त कर वा सकता है और आपको सभी प्रकार की अज्ञात और दुर्भाग्यपूर्ण घटनाओं से भी बचा सकता है।
  • हनुमान चालीसा का पाठ करने के बाद कपूर के साथ हनुमान जी की कला का स्मरण करें। इतना ही नहीं शाम को सोने से पहले तकिए के नीचे हनुमान चालीसा रख दें और फिर पानी को तांबे के पात्र में भरकर उस पर थोड़ा लाल चंदन रख दें। अब मटके को सिर पर रखकर रात को सो जाएं।
  • सुबह उठकर सबसे पहले स्मृति सहित तुलसी के पौधे में जल चढ़ाएं। ध्यान रहे कि यह प्रक्रिया आपको कुछ ही दिनों में पूरी करनी होगी, क्योंकि आपकी समस्याएं धीरे-धीरे दूर हो जाएंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.